दुनिया कि ऐसी जगह जहां दो देश राज करते है।

 दुनिया का अजीब द्वीप 

दुनिया में एक ऐसा आइलैंड(Island) है, जहा पर दो देश राज करते है।दरअसल वहा ऐसा नियम कानून है की 6-6 महीने दोनो देश राज करेंगे।और खास बात यह है कि वर्तमान में दोनो देशों के बीच कभी लड़ाई नही हुई है।द्वीप बाटने की यह परंपरा पिछले 350 सालो से बदस्तूर जारी है। हालाकि,इस आइलैंड पर कोई रहता नही है।आम लोगो के लिए कुछ खास मौकों पर, यह आइलैंड खोला जाता है। ऐसी व्यवस्था को समिलित शासन कहते है।

दुनिया का अजीब द्वीप 


दरअसल यह दोनो देश स्पेन और फ्रांस है। इन दोनो देशों के बीच ऐसा नियम बना हुआ है कि जिस पर दोनो देश साल में 6-6 महीने के अनुसार सरकार चलाते है।बिना किसी लड़ाई झगडे के दोनो देश 6 महीने की सरकार चलाते है।फिजैंट (Pheasant) नाम का यह आइलैंड एक फरवरी से 31 जुलाई तक स्पेन के नियंत्रण में रहता है।बाकी 6 महीने यानी एक August से 31 January फ्रांस के नियंत्रण में रहता है।

खास बात यह है कि पिछले सालो से फ्रांस और स्पेन के बीच किसी भी तरह का कोई विवाद और लड़ाई नही हुई है।350 सालो से दोनो देश बारी बारी से इस आइलैंड पर राज करते रहते है।इस दोनो देशों के बीच बह रही नदी बिदासोआ (Bidassoa) के बीच में बसे फिजैंट आइलैंड में कोई नही रहता है।इस आइलैंड में किसी को जाने की अनुमति नहीं मिलती।कुछ खास मौकों पर यह आइलैंड आम लोगो के लिए खोला जाता है। इस आइलैंड की सीमा पर दोनो देशों की सेना तैनात रहती है।

आइलैंड काफी शांत जगह है,जिसमें एक हिस्टोरिकल (Historical)इमारत भी बनी हुई है।जिसका संबंध 1659 में हुई एक घटना से जुड़ा है। इस घटना के दौरान ऐतिहासिक घटना के प्रतीक स्वरूप एक पुराना स्मारक भी बनाया गया था।

    1659 में क्या घटना हुई 

    आइलैंड को लेकर 1659 में एक संधि हुई थी।क्योंकि पहले इस आइलैंड को लेकर फ्रांस और स्पेन के बीच में झगड़ा था।हालाकि एक लंबे युद्ध के बाद करीब, तीन महीने तक,स्पेन और फ्रांस ने इस द्वीप को लेकर आपस में बातचीत की।क्योंकि इसे तटस्थ क्षेत्र माना जाता था।दोनो देश लकड़ी के पुल बनाए हुए थे। दोनो देश अपनी अपनी सेना सीमा में तैनात रखते है।फिर इस वार्ता के दौरान 1659 शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए गए  और एक संधि हुई। इस संधि को पाईनीस संधि के नाम से जाना जाता है।यह संधि एक Royal शादी के साथ पूरी हुई।

    यह शादी स्पेन के King Philip IV की बेटी और फ्रांस के राजा लुईस XIV के साथ की गई थी।उसी समय के बाद ,अब इस आइलैंड में दोनो देश बारी बारी से शासन करते है।एक ही आइलैंड पर दोनो देशों के राजा को कोंडोमिनियम कहा जाता हैं।

    Border से लगे स्पेनिश कस्बे सैन सेबेस्टियन और फ्रांस के Bayonne के नेवल Commander ही आइलैंड के कार्यकारी गवर्नर के रूप में काम करते है। वास्तव में उनके पास इससे भी कई बड़े काम होते है।इसलिए ईरून  और हैंडई के ऊपर इसकी देखभाल का जिम्मा आता हैं।जो देश अपनी बारी में शासन करता है उसी देश का प्रशासन इस पर लागू हो जाता है।

    आइलैंड की खासियत क्या है।

    दोनो देशों के बीच में बसा यह आइलैंड भौगोलिक रूप से काफी छोटा है।यह आइलैंड मात्र 200 मीटर लंबा और 40 मीटर चौड़ा है।कुछ खास मौकों पर यह द्वीप आम जनता के लिए खोला जाता है। हालाकि यह आइलैंड सिर्फ उम्रदराज लोगो के लिए ही चर्चा का विषय रहता है।क्योंकि आज के पीढ़ी के लोग इसकी ऐतिहासिक महत्व को नही समझते। यहां की नदी में पानी घटता बढ़ता रहता है, कई बार तो पैदल चल कर ही स्पेन पहुंचा जा सकता है।


    खत्म होने की कगार पर है यह द्वीप।

    अब इस आइलैंड को दोनो देश ध्यान भी देते ।यह आइलैंड दोनो देशों के बीच पर स्थित है ।यह आइलैंड धीरे धीरे खत्म होने की कगार में आ चुका है।क्योंकि आइलैंड का काफी हिस्सा नदी में मिलता जा रहा है।यह दोनो देशों के लिए चिंता का विषय है।लेकिन इस आइलैंड को बचाने के लिए दोनो देश कोशिश नही कर रहे ।पिछली कुछ शताब्दियों में यह लगभग आधा हो गया है। दरसल पानी के बहाव और कटाव के कारण आइलैंड धीरे धीरे कटता जा रहा है। लेकिन आइलैंड को बचाने के लिए,दोनो देश पैसा खर्च करने के लिए तैयार है।

    FAQ 

    1.वह कोन सा आइलैंड है जहा दो देशों का शासन चलता है?

    फिजैंट नमक आइलैंड है 

    2.फिजैंट नमक द्वीप में कौन से देश बारी बारी शासन करते है ?

    फिजैंट द्वीप में स्पेन और फ्रांस शासन करते है।

    3.दोनो देश कितनी बार शासन करते है?

    दोनो देश साल में 6-6 महीने शासन करते है?

    4.फिजैंट द्वीप कितना बड़ा है?

    यह द्वीप की लंबाई 200 मीटर है और चौड़ाई 40 मीटर है।

    5.स्पेन और फ्रांस के बीच संधि कब हुई?

    स्पेन और फ्रांस के बीच संधि 1659  मे हुई।

    Conclusion

    इस लेख को पढ़ कर आपको पता चल गया होगा की दुनिया का वह कौन सा स्थान है जहा दो देश शासन करते है।अगर यह लेख आपको पसंद आया हो तो शेयर जरूर करें।

    Post a Comment

    1 Comments
    * Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.