शेयर बाजार क्या है ? What is share market?

 शेयर बाजार क्या है/ Share Market 

अगर आप स्टॉक मार्केट या शेयर मार्केट के बारे में सब कुछ जानना चाहते हैं तो आप बिलकुल सही जगह पर आए है।इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको शेयर बाजार से जुड़े, आपके हर सवाल का जवाब मिल जायेगा और अगर आप शेयर मार्केट के बारे में सीखना चाहते है। तो आपको इस लेख को पढ़ कर सब समझ आ जायेगा।

अगर आपने इस लेख को पूरा पढ़ लिया तो आपके मन में शेयर मार्केट से संबंधित कोई सवाल नही रहेगा।क्योंकि इस लेख में Share Market की Basic Knowledge तो मिलेंगी ही, साथ ही शेयर मार्केट के सभी जरूरी कॉन्सेक्ट(Concept) को डिटेल(Detail) से हिंदी में जानने को मिलेगा ।

 
शेयर बाजार क्या है/ Share Market



    शेयर मार्केट क्या है ?WHAT IS SHARE MARKET IN HINDI

    Share Market या स्टॉक मार्केट एक ऐसे मार्केट को कहा जाता है। जहा पर किसी कंपनी के शेयर खरीदे या बेचे जाते है। असल में शेयर का मतलब उस कंपनी में हिस्सेदारी से है। शेयर का अर्थ समान भाषा में अंश यानी हिस्से को दरसाने के लिए प्रयोग किया जाता है।

    शेयर मार्केट एक तरह इलेक्ट्रानिक(Electronic) मार्केट है । जहा निवेशक(Invester) अपने शेयर खरीद और बेच सकते है। शेयर मार्केट एक केंद्रीयकृत(Centralised) मंच है जहा सभी खरीदार और विक्रेता विभिन्न कंपनियों के शेयर में व्यापार करने के लिए जमा होते है। शेयर बाजार एक ऐसा बाजार है । जहा पर BSE और NSE पर लिस्ट कंपनियों के शेयर (खरीदे और बेचे) Trade किए जाते है। शेयर मार्केट के द्वारा निवेशक भी Nifty या सेंसेक्स(Sensex) की टॉप कंपनियों में निवेश कर शेयर होल्डर (ShareHolder)बन सकता है। स्टॉक मार्केट एक ऐसी जगह हैै। जहा बहुत सी कंपनिया लिस्ट(Listed) होती है। और वो कंपनिया अपने कुछ शेयर जारी करती है बेचने के लिए अलग अलग प्राइस में ।

    और फिर लोग उन शेयर को खरीदते और बेचते है। जब खरीदे हुए शेयर का प्राइस बढ़ जाता हैै। तो बेच कर पैसा कमा लेते है। लेकिन यदि शेयर प्राइस (Price) कम हो जाता हैै।  तो उसे बेचने पर नुकसान हो जाता है। किसी कंपनी का शेयर खरीदने का मतलब है।उस कंपनी के हिस्सेदार बन जाना। आप अपने पैसे से जितने शेयर खरीदेंगे उसी के हिसाब से कुछ प्रतिशत के मालिक आप उस कंपनी के हो जाते है। जिसका मतलब ये है,की यदि कंपनी प्रॉफिट (Profit) में जायेगी तो आपको मुनाफा होगाा, लगे हुए पैसे दुगुने हो जायेंगे।यदि घाटा हुआ तो आपको नुकसान (Loss) सहना पड़ेगा।


    सेबी क्या है? What is SEBI ?

    SEBI सेबी का फुल फॉर्म सिक्योरिटी  एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया(Security and Exchamnge Board Of India) है। यानी हिंदी में इसे भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड के नाम से जानते है। सेबी एक वैधानिक नियामक प्राधिकरण है ।जो भारतीय पूंजी बाजार की देखरेख करता है। विशिष्ट कानूनों और विनियामो को लागू करके यह शेयर बाजार, को नियंत्रित करता है। और निवेशकों के हितों की रक्षा करता है।

    सेबी का संचालन इसके बोर्ड के सदस्यों द्वारा किया जाता है। बोर्ड में एक अध्यक्ष और कई अन्य पूर्णकालिक और अंशकालिक सदस्य होते है। अध्यक्ष को सेंट्रल Govt. द्वारा नामित किया जाता है। अन्य वित्त मंत्रालय के दो सदस्य होते है। भारतीय रिजर्व बैंक का सदस्य और पांच अन्य सदस्य भी सेंट्रल द्वारा नामित किया जाते है।सेबी का मुख्यालय मुंबई में स्थित है ।और क्षेत्रीय कार्यालय अहमदाबाद ,कोलकाता ,चन्नई और दिल्ली में स्थित है ।

    सेबी की स्थापन 12 April 1988 को किया गया था ।और सेबी अधिनियम 1992  के माध्यम से 30 जनवरी 1992 को वैधानिक सक्तिया Statutory Power प्रदान की गई।

    सेबी की स्थापना के कारण/Reason For Establishment of SEBI

    1970 दशक के पतन और 1980 के दशक के उदय के दौरान भारत के लोग पूंजी बाजार में काम करना पसंद कर रहे थे ।क्योंकि बाजार में रुझान था। बिना किसी अधिकार के, अनौपचारिक तरीके, से निजी PlaceMent, कीमतों में हेरा फेरी ,अनौपचारिक मर्चेंट बैंकर, जैसी समस्याओं ने स्टॉक मार्केट के नियमो और विनिमय का उलंघन करना शुरू कर दिया जिससे शेयर की डिलेवरी देर में हुई ।

    सरकार को अपने कामकाज को विनियमित करने के लिए एक नियामक निकाय के स्थापित करने की तत्काल आवश्यकता पड़ी।और बाजार में फैले सभी समस्याओं को दूर करने के लिए भारतीय सुरक्षा और विनिमय बोर्ड स्थापना करनी पड़ी, क्योंकि लोगो का मार्केट से भरोसा टूट रहा था। इस कारण सेबी की स्थापना की गई।

    शेयर मार्केट खुलने का समय/Market Timing

    इक्विटी(Equity) का लेनदेन शनिवार और रविवार को छोड़ कर सप्ताह के हर दिन होता है।इसके अलावा यदि सार्वजनिक अवकाश हो जाता है।तो मार्केट बंद रहता है।

    1. पूर्व खुला बाजार का समय/Pri Market Timing

    सुबह 09:00 बजे से लेनदेन के जानकारी डालने और बदलाव करने हेतु खुलता है।

    सुबह 09:08 को बंद हो जाता है। कभी कभी अंतिम एक मिनट में ही बंद हो जाता है

     

    2.रेगुलर मार्केट टाइमिंग Regular Market Timing

    सुबह 09:15 मिनट में बाजार नियमित लेनदेन के लिए खुल जाता है।

    दोपहर 03:30 बजे लेनदेन की प्रक्रिया समाप्त कर दी जाती है।

    शाम 04:00 ,बजे से लेकर अगले दिन सुबह 09:00 बजे तक बाजार के बंद होने का समय माना जाता है।




    स्टॉक एक्सचेंज

    जब भारत में शेयर मार्केट की बात आती है।तो हमारे दिमाग में दो स्टॉक एक्सचेंज याद आते है।एक बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज जिसे BSE कहते है दूसरा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज जिसे NSE कहते है।भारत के दो बड़े STOCK EXCHANGE हैं ।जो एशिया के सबसे बड़े STOCK EXCHANGE, जापान चीन और हांगकांग के बाद सबसे बड़े है। यदि आप शेयर मार्केट में कदम रखना चाहते  है तो यह आपको जानना बेहद जरूरी है की NSE और BSE क्या है।

    Bombay Stock Exchange(BSE)

    बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज भारत का पहला और सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है। इसकी इस्थापना 1875  में नेटिव शेयर एंड स्टॉक ब्रोकर्स एसोसिएशन के रूप में हुई थी। BSE मुंबई में स्थित है।बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में लगभग 6000 Companies सूचीबद्ध है और NYASE,,NASDAQ, लंदन स्टॉक एक्सचेंज ग्रुप,जापान एक्सचेंज ग्रुप,के बाद यह दुनिया के सबसे बड़े स्टॉक एक्सचेंज में से एक है।

    BSE Electronic Trading प्रणाली के लिए जाना जाता है,जो तेज और प्रभावी ट्रेड उपलब्ध कराता है। BSE नेवेशको को EQUITY, Currencies, डेट इंस्ट्रूमेंट्स और म्यूचुअल फंड में ट्रेड करने के लिए सक्षम बनाता है। बीएसई रिस्क मैनेजमेंट,क्लियरिंग Settelment और निवेशकों को शिक्षा जैसे सेवाए प्रदान कराता है।

    सेंसेक्स (sensex) की शुरुवात 1986 में हुई थी और यह भारत का सबसे पुराना स्टॉक Index हैं। इसे बीएसई-30 BSE-30 भी कहा जाता है।और यह इंडेक्स व्यापक रूप से भारत के पूरे मार्केट का प्रतिनिधित्व करता है।

    Dalal Street दलाल स्ट्रीट 

    बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज मुंबई के उपनगर दलाल स्ट्रीट में स्थित है। 1850 के दशक में स्टॉकब्रोकर मुंबई डाउनहोल के समाने एक बरगद के पेड़ के नीचे व्यवसाय का संचालन करते थे। कुछ सालों तक विभिन्न बैठक स्थालो के बाद औपचारिक रूप से 1874 में दलाल स्ट्रीट नेटिव शेयर एंड स्टॉक ब्रोकर एसोसिएशन की जगह के रूप में चयन कर दिया गया।

     National Stock Exchange(NSE)

    BSE होने के बाद भारत सरकार को भी लगा की सरकार का भी स्टॉक एक्सचेंज होना चाहिए इसी आधार पर NSE की शुरुवात हुई। National Stock Exchange भारत का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है,जो मुंबई में स्थित है। इसकी इस्थापना 1992 मे हुई थी। NSE को वर्ष 1992 में सिक्योरिटी कॉन्ट्रैक्ट एक्ट 1956 के तहत कर भुगतान कंपनी के रूप में बनाया गया था। परंतु इसका संचालन 1994  से शुरू हुआ। कारोबार के लिहाज से यह विश्व का तीसरा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है इसके V-SAT टर्मिनल भारत के 320 शहरों तक फैले हुए है। NSE देश में एक आधुनिक और पूरी तरह से स्वचालित स्क्रीन बेस्ड Electronic ट्रेडिंग सिस्टम प्रदान करने वाला पहला एक्सचेंज है। कुछ ही वर्षों में , व्यापार की इस इलेक्ट्रानिक प्रणाली ने प्राकृतिक शेयर प्रमाणपत्रों को शामिल करते हुए कागज आधारित शेयर ट्रेडिंग सिस्टम को पूरी तरह बदल दिया।

    वर्तमान में इस एक्सचेंज में लगभग 1700 कंपनिया Listed है।जिनमे लगभग 1370 सक्रिय है।नेशनल स्टॉक एक्सचेंज 10वा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज मार्केट प्लेस है।Nse की इंडेक्स index nifty  50 national index fifty का उपयोग कर भारतीय पूंजी बाजारों के बैरोमीटर के रूप में भारत में और दुनिया भर के निवेशकों द्वारा बड़े पैमाने पर किया जाता है।

    डीमैट अकाउंट क्या है ? कैसे खोले ! WHAT IS DEMAT ACCOUNT ?

    सेबी याने सिक्योरिटी एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया के नियमो के अनुसार अगर आपको शेयर बाजार में स्टॉक खरीदना या बेचना चाहते है। तो आपके पास डीमैट अकाउंट होने चाहिए। डीमैट अकाउंट के अलावा किसी अन्य रूप में शेयर खरीदा या बेचा नही जा सकता है । Demat Account के माध्यम से ही आप IPO में पैसा लगा सकते है।यानी की जब किसी कंपनी को व्यापार(Buisness) बढ़ाने के लिए पैसे की जरूरत होती है तो वह IPO निकालती है।यह IPO SHARE के रूप में होता है। जहा शेयर का प्राइस निर्धारित कर दिया जाता है।यदि आपने IPO में पैसा लगाया है और वो मार्केट में तय प्राइस से ज्यादा में लिस्ट होता है तो ऐसे में आपको फायदा होगा।

    यदि आप शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते है। तो आपको एक अकाउंट की जरूरत होती है।जिसे हम Demat Account कहते है। डीमैट अकाउंट एक बैंक अकाउंट की तरह ही होता है। जिसमे आप के शेयर सर्टिफिकेट और अन्य सिक्योरिटीज को इलेक्ट्रानिक फॉर्म में रखा जाता है। वही ट्रेडिंग अकाउंट से आप स्टॉक खरीदते और बेचते है। दरअसल डीमैट और Trading अकाउंट एक ही Single Login के अंदर होते है यानी खरीदा हुआ शेयर डीमैट अकाउंट में रखा जाता है और ट्रेडिंग अकाउंट के माध्यम में शेयर को खरीदा जाता है।


    डीमैट अकाउंट: 

    जब आप किसी कंपनी का शेयर खरीदते है तो आपको उस कंपनी में हिस्सेदारी मिलती है।उसके लिए आपके पास प्रूफ भी तो होना चाहिए जिससे की भविष्य में कही कोई गड़बड़ हो तो आप बता सको की मेरा पैसा किस कंपनी में लगा हुआ है। इसलिए आपने जो शेयर खरीदा होगा। वह डिजिटल फॉर्म में प्रूफ के तौर पर आपके डीमैट अकाउंट में स्टोर कर दिया जाता है ।शेयर स्टोर करने का काम NSDL और CDSL जैसे depositary कंपनिया करती है।

    Trading Account:

    India में दो स्टॉक एक्सचेंज है NSE और BSE ये डायरेक्ट किसी भी कंपनी का शेयर नही बेचते इसके लिए कुछ डिस्काउंट ब्रोकर कंपनिया  है।जैसे ANGEL one ,ZERODHA,UPSTROX, इन पर जा कर ही हम  ट्रेडिंग अकाउंट खुलवा कर शेयर को खरीद या बेच सकते है। वैसे डिस्काउंट ब्रोकर के अलावा फुल सर्विस ब्रोकर होते है जो शेयर बेचने और खरीदने में हमे गाइड करते है इसके बदले में वो फीस लेते है।जब की डिस्काउंट ब्रोकर केवल ब्रोकर चार्जेस और कुछ सेबी के चार्ज ही लेते है।

    डीमैट अकाउंट खुलवाने में काम आने वाले Document 

    1. Pan Card 
    2. Aadhar Card
    3. Bank Account Detail 
    4. Passport
    5. ड्राइविंग लाइसेंस 
    6. Income Tax Return 
    7. National I'd Card 
    8. और Electricity Bill,

    डीमैट अकाउंट कैसे खुलवाए

    • डीमैट अकाउंट खुलवाने के लिए आपको कुछ खास भागदौड़ की जरूरत नही है।आज के समय में बहुत Famous डिस्काउंट ब्रोकर है Angel one,UPSTROX, ZERODHA,groww,5paisa,Paytm money,Bajaj Finserve,आप किसी में भी अकाउंट खुलवा सकते है।कभी कभी ये डिस्काउंट ब्रोकर फ्री में अकाउंट खोलते है।
    • अकाउंट खुलवाने से पहले देख ले की कितनी ब्रोकरेज लेते है।Account खुलवाने के लिए आप प्ले स्टोर से किसी भी ब्रोकर का Apps डाउनलोड कर आप अकाउंट क्रिएट कर लिजिए ।कुछ जरूरी डॉक्यूमेंट आपको अपलोड करने होने और आधार से E-Verify करना होगा।
    • इसके बाद 48 घंटे के अंदर अकाउंट खुल जायेगा।आप इनकी वेबसाइट में भी जा कर क्रिएट डीमैट अकाउंट ऑप्शन में क्लिक कर अकाउंट खुलवा सकते है।
    • Upstrox में अकाउंट खोलने के लिए Link में Click करे-
    • Angel One में अकाउंट खोलने के लिए लिंक में click करे
    • Zerodha में अकाउंट खोले लिंक में क्लिक करें -

    Share market कैसे सीखे/Share Market Tips

    स्टॉक मार्केट में पैसा लगाते समय आपको शेयर मार्केट के बारे में पूरी तरह जाना लेना चाहिए। बिना जानकारी लिए यदि आप शेयर मार्केट में पैसा लगाएंगे तो नुकसान हो सकता है। शेयर मार्केट में कौन सी कंपनी का शेयर बढ़ा या गिरा  इसका पता  लगाने के लिए आपको Economics Times जैसे  News पेपर पढ़ना चाहिए । या फिर आपको NDTV buisness न्यूज देखनी चाहिए। शेयर मार्केट बहुत Risk से भरा हुआ है। इसलिए तभी निवेश करना चाहिए जब आपकी आर्थिक स्थिति  ठीक हो ताकि आपको यदि घाटा भी हो तो ज्यादा फर्क न पड़े । और शेयर मार्केट में कभी एक साथ सारा पैसा नही लगाना चाहिए ।क्योंकि शेयर मार्केट में उतर चढ़ाव चलता रहता है। यदि आपने सारा पैसा उस समय लगाया है जब मार्केट High पर चल रही है, यदि मार्केट गिर गई तो आपको Loss हो जायेगा इसलिए सारे पैसे न लगाए। जब मार्केट गिर रहा हो तब हमे मार्केट में निवेश करना चाहिए और वो भी टुकड़ों में । शेयर मार्केट में गिरते मार्केट को Bearish बोलते है और चढ़ते हुए मार्केट को bullish।

    Share Market सीखने के लिए आपको अलग अलग चीजे सीखनी होंगी। यदि आप शेयर मार्केट में एक Beginner है और एक सफल इन्वेस्टर बनाना चाहते है । तो उसके लिए शेयर मार्केट को अच्छे से समझना पड़ेगा। तो सबसे पहले शेयर मार्केट की बेसिक जानकारी लेनी पड़ेगी। जैसे :-

    • शेयर मार्केट काम कैसे करता है।
    • NSE और BSE क्या है।
    • SENSEX और NIFTY क्या है
    • IPO क्या होता है।
    • DEMAT ACCOUNT किसे कहते है।
    • तो मार्केट में पैसा लगाने से पहले बेसिक चीजों को जानना जरूरी है।
    • शेयर मार्केट को जानने के लिए THE INTELLIGENT इन्वेस्टर नमक बुक है जरूर पढ़े ।
    • इन्वेस्ट कर Long Term का Goal रखे
    • पैसा लगाने से पहले खुद की Research करें
    • अपने इमोशन को कंट्रोल रखे।इमोशन के चलते आप शेयर मार्केट में पैसा खो सकते है।
    • अपना इन्वेस्ट Diversify करे।एक ही काम कंपनी में सारा पैसा न लगाए।थोड़ा थोड़ा कर के सभी सेक्टर में पैसा लगाए।
    • अच्छी कंपनीज के शेयर में इन्वेस्ट करे।

    शेयर मार्केट से पैसा कैसे कमाए 

    शेयर मार्केट में हम पैसा कई तरह से कमा सकते है लेकिन उसके लिए आपको पहले मार्केट का पूरा ज्ञान होना चाहिए ।मार्केट का ज्ञान न होने पर आप पैसा कमा नही सकते जबकि आपको नुकसान ही होगा ।शेयर मार्केट में पैसा लगाने से पहले फाइनेंशियल एडवाइजर की सलाह ले।और खुद अपनी जानकारी बढ़ाए. शेयर मार्केट में बहुत सारे scams भी होते है। Operator पंप एंड dump का गेम खेलते है।और छोटे निवेशक उसमे फस जाते है।इसलिए शेयर मार्केट में नॉलेज एक्सपीरियंस की बहुत जरूरत है।

    •  शेयर खरीदते  समय ध्यान दे 
    • शेयर खरीदने से पहले उस कंपनी के बारे में अच्छे से जान ले।
    • शेयर मार्केट में पैसा आप किसी अच्छी कंपनी का शेयर खरीदे कर कमा सकते है।
    • दोस्तो आपको शेयर मार्केट में पैसा लंबे समय के लिए लगाना चाहिए।
    • जब शेयर मार्केट डाउन में चल रहा हो, तो आपको शेयर खरीद लेना चाहिए और जब मार्केट हाई पर हो तो बेच देना चाहिए ।
    • पर ध्यान रखे जब Market Down हो तो एक साथ पूरा पैसा न लगाए बल्कि किस्तो की तरह पैसा लगाए जब डाउन हो तो ही खरीदे।
    • यदि आप शेयर मार्केट से पैसा कमाना चाहते है तो आपके अंदर patience होना चाहिए
    • आप Commudity से पैसा कमा सकते है
    • Intraday Trading  कर के 
    • स्विंग ट्रेडिंग कर के 
    • शॉर्ट टर्म(Short Term) ट्रेडिंग 
    • Long term ट्रेडिंग
    • फ्यूचर मार्केटिंग कर के आप पैसा कमा सकते है 
    • ऑप्शन मार्केट ट्रेडिंग


    शेयर कब खरीदे 

    1. शेयर मार्केट में किसी भी कंपनी का शेयर यू ही न खरीदे ।पहले अच्छे से जान ले।
    2. कंपनी की बैलेंस शीट अच्छे से पढ़ ले 
    3. पिछले कुछ सालो के प्रॉफिट और लॉस को देख ले यदि कंपनी लॉस में है तो यह अच्छा संकेत नही है।
    4. उस कंपनी के एसेट और Liabilities को अच्छे से देख ले 
    5. उस कंपनी के कैश फ्लो को अच्छे से देख ले 
    6. इसके अलावा इकोनॉमी टाइम और एनडीटीवी बिजनेस जैसे न्यू चैनल से अपडेट रहे।
    7. जब शेयर का भाव कम प्राइस में हो तब शेयर ले ।कभी भी एक साथ पैसा न लगाए।

    शेयर मार्केट के Risk 

    Share Market मे बहुत सारे फ्रॉड भी होते रहते है।क्योंकि यदि आपको मार्केट में नॉलेज नही है। तो आप पैसा गवा देंगे । आपने Harsad Mehta का Scam सुना ही होगा , उस पर Web Series भी बनाई जा चुकी है।शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने से पहले हर एक व्यक्ति को यह वेब सीरीज देखनी चाहिए।इससे आपको मार्केट के जुड़ी चीजों के बारे में पता लगेगा।

    • ऑपरेटर के पंप और Dump Game से बच कर रहे ।
    • शेयर मार्केट में टिप्स लेने से बचे खुद की रिसर्च कर पैसा लगाए।
    • किसी फाइनेंशियल एडवाइजर के हेल्प ले ।
    • शेयर मार्केट में कभी एक साथ पैसा न लगाए
    • शेयर मार्केट में किसी रिश्तेदार या दोस्त से पैसे उधार ले कर न लगाए
    • किसी भी बैंक से लोन लेकर शेयर मार्केट में पैसा न लगाए।
    • बिना सोचे समझे किसी भी कंपनी में पैसा न लगाए।पैसा लगाते समय कंपनी के बारे में जान ले ।

    क्या सच में शेयर मार्केट से पैसा बनाए जा सकता है।

    शेयर मार्केट से पैसा जरूर कमाए जा सकते है।शेयर मार्केट एक तरह से पैसे का समुद्र है।यदि आपको अच्छी knowlege और हर स्टॉक के बारे में जानकारी है।तो बेसक आप पैसा कमा सकते है।परंतु यदि आपको शेयर मार्केट के बारे में जानकारी नही है ।तो आप पैसा कमाएंगे नही पैसा गवाएंगे।इसलिए शेयर मार्केट में छोटी से छोटी जानकारी होनी चाहिए। बहुत से इन्वेस्टर है जिन्होंने कम पैसा लगा कर ।बहुत पैसा कमाया क्योंकि उन्हें मार्केट की जानकारी थी।


    FAQs

    1.शेयर मार्केट में न्यूनतम कितने पैसे से शुरू किया जा सकता है?

    शेयर मार्केट में न्यूनतम कोई वैल्यू नही है आप किसी भी कंपनी के शेयर खरीद कर शुरू कर सकते है।

    2.क्या शेयर मार्केट जुआ है?

    शेयर मार्केट जुआ नही  है।यह सोची समझी मार्केट है जो गणित और कैलकुलेशन के आधार पर चलती है।लेकिन यदि आपको शेयर मार्केट में जानकारी नही है तो आपको नुकसान होगा ।


    Conclusion : आशा करता हु की यह लेख आपको पसंद आया होगा ।शेयर मार्केट से जुड़े हर सवाल का उत्तर आपको मिल चुका होगा ।अगर अभी भी कोई सवाल है तो आप कमेंट कर पूछ सकते है।

    Post a Comment

    0 Comments
    * Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.